Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana | इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना | इंदिरा गांधी मातृत्व सहायता योजना | मातृत्व पोषण योजना | इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना form | Indira Gandhi matritva poshan Yojana | Indira Gandhi matritva poshan Yojana Rajasthan | IGMPY | registration

नमस्कार दोस्तों, महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा अनेक प्रकार की योजनाएं चलाई जाती है और वर्तमान में भी राजस्थान की सरकार इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2022 चला रही है। ये योजना इससे पूर्व पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर राज्य के केवल 4 जिलों मे प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, उदयपुर एवं डूंगरपुर में क्रियान्वित की गई थी। सरकार को इन जिलों में काफी बडी सफलता मिली तो इसको देखते हुए सरकार ने अब इस योजना को संपूर्ण राज्य में प्रारंभ करने का फैसला लिया है।

इस लेख में यहां पर इंदिरा गांधी पोषण योजना की विस्तृत जानकारी जैसे ये योजना कब शुरू हुई, Indira Gandhi matritva poshan Yojana Online Registration कैसे होगा, इसकी पत्रता क्या है, दस्तावेज क्या लगेंगे आदि के लिए इस लेख को आखिर तक पढ़ते रहे।

यह भी पढ़ें- खादी कामगार आर्थिक प्रोत्साहन योजना 2022

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2022

राजस्थान राज्य के मुख्यमंत्री ने बजट 2022-23 में इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना को पूरे राजस्थान में लागू करने की घोषणा की थी। Indira Gandhi matritva poshan Yojana Online में महिलाओं को दूसरी संतान के जन्म पर ₹6,000 की सहायता बच्चे के जन्म से आने वाले 3 सालो तक की जाएगी। इसके द्वारा बच्चों के स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार लाने में सहयोग मिलेगा। इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना को CIFF तथा IPE GLOBAL जैसी संस्थाओं के सहयोग से संचालित करा जाएगा।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana Highlights

schemeIndira Gandhi Matritva Poshan Yojana
MotiveTo Provide nutrition to Kids and Mothers
LaunchBy Rajasthan Government
Year2022
Start Date19 November 2020
BeneficiaryMothers who is getting pregnant for 2nd time
Grant Amount Rs. 6,000
Time LimitTill 3 Years
ApplicationOnline & Offline
Official Websitewcd.rajasthan.gov.in

यह भी पढ़ें- हर घर नल योजना 2022

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana Characteristics

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना की विशेषताएं निम्नलिखित है-

  • इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2022 के तहत ऐसी महिला जो दूसरे बच्चे के लिए प्रसव पूर्व जांच के लिए पंजीकृत हो उसे ही इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • Indira Gandhi matritva poshan Yojana के तहत वे महिलाएं जो केंद्र अथवा राज्य सरकार में नौकरी करती हैं या अन्य तरह का सरकारी लाभ लेती है उनको इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  • Indira Gandhi matritva poshan Yojana के अंतर्गत पंजीकृत महिलाएं जिनका किसी कारण बस गर्भ गिर गया है या चिकित्सा से गर्भ की समाप्ति हुई हो, वो भी इस योजना के लिए पात्र होंगे।
  • इस योजना के तहत आंगनवाड़ी में कार्यरत महिलाएं, आशा कार्यकर्ता, सहायकों को भी शर्तो के साथ उसका लाभ मिलेगा।
  • Indira Gandhi matritva poshan Yojana के तहत पंजीकृत महिलाएं प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना का लाभ प्राप्त नहीं कर सकती हैं।
  • इस योजना के तहत यदि किसी महिला द्वारा किसी चरण का पालन नहीं किया जाता है तो उसे उस चरण का लाभ प्राप्त नहीं होगा। लेकिन अगले सभी चरणों का पालन होता है उसके द्वारा तो उसे उन चरणों का लाभ प्रदान किया जाएगा।

यह भी पढ़ें- राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना

Indira Gandhi Poshan Yojana Motive

Indira Gandhi matritva poshan Yojana Rajasthan का मुख्य उद्देश्य राजस्थान राज्य की गर्भवती महिलाओं और ऐसी औरतें जो स्तनपान कराती हो तथा उनके 3 साल तक के बच्चों के स्वास्थ्य एवं पोषण के सुधार में सहयोग प्रदान करना है। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य शिशु मृत्यु दर को कम करना, बच्चों के वजन को बढ़ाना तथा कुपोषण को समाप्त करना है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana Benefits

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2022 के लाभ निम्नलिखित हैं-

  • इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2022 के अंतर्गत लाभार्थियों को ₹6,000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी। ये आर्थिक मदद पांच चरणों में प्राप्त होगी।
  • इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के प्रथम चरण में गर्भावस्था जांच का पंजीकरण होने पर (अंतिम महावारी तिथि से 120 दिनों के भीतर पंजीकृत होने पर) ₹1,000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
  • इसके दूसरे चरण में गर्भावस्था के 6 महीने के अंदर कम से कम 2 प्रसव पूर्व जांच (ANC) होने पर ₹1,000 दिए जाएंगे।
  • इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2022 के तीसरे चरण में अर्थात बच्चे के जन्म होने पर ₹1,000 दिए जाएंगे।
  • Indira Gandhi matritva poshan Yojana के चौथे चरण में बच्चे के 150 दिन के होने पर, सभी नियमित टीके लगाने पर (जैसे BCG, OPV, DPT, HEPATITIS- B) तथा जन्म पंजीकरण होने पर ₹2,000 की राशि दी जाएगी।
  • इसके पांचवें तथा अंतिम चरण में दूसरी संतान पैदा होने के 3 माह के अंदर स्थाई परिवार नियोजन के तरीके अपनाए जाने पर ₹1,000 प्रदान किए जाएंगे।
  • Indira Gandhi matritva poshan Yojana के तहत महिलाएं लाभ लेकर खुद को पोषण से युक्त कर अपने स्वास्थ्य को तथा बच्चे के पोषण एवं स्वास्थ्य को अच्छा बना पाएगी।
  • इस योजना के तहत महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं तथा पर्याप्त पोषण प्रदान होगा एवं महिलाओं तथा बच्चों में कुपोषण जैसी समस्या से छुटकारा मिलेगा।

यह भी पढ़ें- राजस्थान बैक टू वर्क योजना

Indira Gandhi Matritva Poshan Scheme Documents

  • आधार कार्ड
  • फोटो तथा मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • संस्थागत प्रसव दस्तावेज
  • ANC पंजीकरण कार्ड
  • शिशु के टीकाकरण संबंधी कागज
  • परिवार नियोजन प्रमाण पत्र (द्वितीय संतान के बाद)

Indira Gandhi Matritva Poshan Scheme Eligibility

  • इसके लाभार्थी को राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए।
  • लाभार्थी के द्वारा किसी अन्य मातृत्व योजना जैसे पीएम मातृ वंदना का लाभ प्राप्त ना किया गया हो ।
  • लाभार्थी मुख्यता बीपीएल परिवार का होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें- राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2022

Indira Gandhi matritva poshan Scheme Registration Process

Indira Gandhi matritva poshan Yojana Online Registration करने के लिए सरकार की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक वेबसाइट या पोर्टल जारी नहीं किया गया है, जैसे ही इससे संबंधित कोई अपडेट मिलती है सबसे पहले आपको हमारी वेबसाइट के माध्यम से सूचित किया जाएगा।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2022 Implementation

Indira Gandhi matritva poshan Yojana योजना का क्रियान्वयन राज्य के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। इस योजना के तहत एक प्रशासनिक विभाग कार्य करेगा। इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के क्रियान्वयन में CIFF तथा IPE जैसी संस्थाओं का भी सहयोग लिया जाएगा।

Indira Gandhi Matritva Poshan Scheme Helpline Number

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का हेल्पलाइन नंबर 181 है । आप इस नंबर पर फोन करके इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं तथा योजना से संबंधित शिकायत एवं समाधान हेतु sampark.rajasthan.gov.in पर जाकर दर्ज करवा सकते हैं।

Wrapping Up

Indira Gandhi matritva poshan Yojana 2022 का मूल्यांकन करने के बाद कह जा सकते है कि इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना गर्भवती महिलाओं एवं उनके बच्चों के पोषण एवं स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी सिद्ध होगी। इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना से राजस्थान में कुपोषण, टीवी, एनीमिया जैसी बीमारियों से छुटकारा प्राप्त होगा।

दोस्तों अगर आपको इस लेख में दी गई जानकारी अच्छी लगी तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ और परिजनों के साथ शेयर जरूर करें। साथ ही अगर आपको इस योजना से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं और ऐसी ही सरकार की अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट को भी फॉलो जरूर करें।

यह भी पढ़ें-

राजस्थान मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना

निशुल्क निरोगी राजस्थान योजना 2022

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2022

FAQ-

प्रश्न- Indira Gandhi Matritva Poshan Scheme क्या है?
उत्तर- ये योजना राजस्थान की सरकार द्वारा शुरू की गई है इसमें महिलाओं को कुपोषण से छुटकारा दिलाने के लिए उन्हें ₹6,000 की आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी। यह मदद उनको दूसरी बार गर्भधारण करने पर प्राप्त होगी।

प्रश्न- Indira Gandhi Matritva Poshan Scheme कब लागू हुई?
उत्तर- इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 19 नवंबर 2020 को लागू हुई।

प्रश्न- Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana का फायदा किन महिलाओं को मिलेगा?
उत्तर- इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का लाभ उन महिलाओं को मिलेगा जो दूसरी बार गर्भधारण करेंगे।

प्रश्न- Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana के तहत अभी तक कुल कितने जिले शामिल हैं?
उत्तर- इस योजना के अंतर्गत अभी तक 4 जिले शामिल है। ये है प्रतापगढ़, बांसवाड़ा, उदयपुर और डूंगरपुर।

1 thought on “Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana | इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना”

Leave a Comment